REIL Solar: How Rajasthan Electronics & Instruments Limited helps the Common People of Rajasthan

Rajasthan Electronics & Instrumentation Limited is engaged in the prompt service of all the people of Rajasthan Rajasthan Electronics & Instrumentation Limited is doing the work of delivering Electronics Instrumentation items to every place of Rajasthan.

राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड सभी राजस्थान के व्यक्तियों की तत्पर सेवा में लगी हुई है राजस्थान के प्रत्येक स्थानों पर इलेक्ट्रॉनिक्स इंस्ट्रूमेंटेशन के सामानों को पहुंचाने का काम राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड कर रही है

REIL – Rajasthan Electronics & Instruments limited

Rajasthan Electronics & Instrumentation Limited is a Mini Ratna Central Public Sector Enterprise under the aegis of Ministry of Heavy Industries & Public Enterprises, Government of India Rajasthan Electronics & Instrumentation Limited primarily engaged in upliftment of rural India, Electronics, Renewable Energy and Information Technology solutions. Today is engaged in the service of the whole of Rajasthan.

राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड एक मिनी रत्ना केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है तथा यह भारी उद्योगों एवं लोक उद्यम मंत्रालय भारत सरकार के सानिध्य में चल रही है राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड मुख्य रूप से ग्रामीण भारत का उत्थान इलेक्ट्रॉनिक्स अक्षय ऊर्जा और सूचना प्रौद्योगिकी समाधान करने के माध्यम से आज पूरे राजस्थान की सेवा में लगी हुई है

REIL so that we also call Rajasthan Electronics & Instrumentation Limited today believe that social and economic progress of the country is possible only through villages and there is a ban on taking rail technology to villages for the upliftment of rural economy. Customer Satisfaction Sustainable Development and Employee Empowerment Rail’s Mainly Production and Services Agro Electronics Production Renewable Energy Production Information Technology Production and New Project Production.

REIL जिससे कि हम राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एवं इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड भी कहते हैं आज विश्वास है कि देश की सामाजिक और आर्थिक प्रगति गांव के माध्यम से ही संभव है और ग्रामीण अर्थव्यवस्था के उत्थान के लिए रेल प्रौद्योगिकी को गांवों में ले जाने का प्रतिबंध है आज रेल का लक्ष्य ग्राहक संतुष्टि सतत विकास तथा कर्मचारियों को ताकत देना रेल का मुख्य रूप से उत्पादन और सेवाएं एग्रो इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादन अक्षय ऊर्जा उत्पादन सूचना प्रौद्योगिकी उत्पादन एवं नवीन परियोजना उत्पादन की देखरेख करना है

Reil Solar PV Monitoring System

Rajasthan Electronics and Instrumentation Limited Reil Solar PV Monitoring System Atal Seva Kendra in Rajasthan Government All Rajasthan residents need Panchayat Samitis and 9177 Nos. of Rural Panchayats for Atal Seva Kendra under Rural Development and Panchayati Raj Department, Government of Rajasthan Government of Rajasthan Authorized Solutions Communication Health Care Computers are provided to provide digital connectivity for governance and other legal services etc. and to promote sustainable solutions to improve the quality of life in rural areas.

राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंटेशन लिमिटेड रेल सोलर मॉनिटरिंग सिस्टम अटल सेवा केंद्र इन राजस्थान सभी राजस्थान वासियों को ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग राजस्थान सरकार के तहत अटल सेवा केंद्र 249 नग के लिए पंचायत समितियों और 9177 नाक के ग्रामीण पंचायतों की आवश्यकता अधिकृत समाधान संचार स्वास्थ्य देखभाल शासन और अन्य विधि सेवाओं के आदि के लिए डिजिटल कनेक्टिविटी प्रदान करने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए स्थाई समाधान को बढ़ावा देने के लिए कंप्यूटर प्रदान किए जाते हैं

In order to achieve these objectives the computers are to be provided with reliable energy backup of SPV Systems by REIL at all the Atal Seva Kendras in Rajasthan. The project involves supply, installation, commissioning & 5 years maintenance of SPV Systems at 249 nos. of Panchayat Samities & 9177 nos. of Gram Panchayats in the state of Rajasthan. Total no. of sites are 9426 nos.

इन उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए राजस्थान के सभी अटल सेवा केंद्रों पर रील द्वारा कंप्यूटरों को एसपीवी सिस्टम का विश्वसनीय ऊर्जा बैकअप प्रदान किया जाना है। इस परियोजना में 249 पर एसपीवी सिस्टम की आपूर्ति, स्थापना, कमीशनिंग और 5 साल का रखरखाव शामिल है। पंचायत समितियों और 9177 नग के। राजस्थान राज्य में ग्राम पंचायतों के कुल संख्या साइटों की संख्या 9426 नग हैं।

Leave a Comment

error: